सबसे बड़ी सर्च इंजन Google ka naam kisne rakha

Google ka naam kisne rakha नमस्कार दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है गूगल एक सर्च इंजन है जिसका इस्तेमाल हर इंटरनेट यूजर्स करता है Google एक सबसे बड़ा सर्च इंजन है और बाकियों के सर्च इंजन से ज्यादा स्मार्ट ओर एडवांस है।

गूगल सर्च इंजन का इस्तेमाल करके ही आप किसी भी विषय को जानकारी प्राप्त कर सकते है, चाहते पढ़ाई की जानकारी हो या कोई फॉर्म भरना, स्कूल कॉलेज का रिजल्ट देखना, या कोई कोई भी लेटेस्ट खबर गूगल हमें सभी जानकारी कुछ सेकंड में ही बता देता।

Google ka naam kisne rakha

Google का नाम रखने वाले गूगल के फाउंडर Larry Page और Sergey Brian थे, इसका नाम गूगल ही रखने का मुख्य कारण उनका गणित भाषा में Googol नाम से बहुत प्रभावित होना था।

Google ka naam kisne rakha

लेकिन क्या आपको पता है गूगल सर्च इंजन का नाम पहले BACKRUB था, 1997 में गूगल के फाउंडर Larry Page और Sergey Brian ने अपने सर्च इंजन का नाम BACKRUB से बदल कर Google रख दिया को की अब दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन बन गई है।

गूगल का नाम गूगल ही क्यों रखा गया

जैसा कि हमने आपको बताया गूगल का नाम गूगल के फाउंडर लैरी पेज और Sergey ब्रेन द्वारा रखा गया था, और यह एक mathematical सब्द Googol नाम से प्रेरित है यह mathematical शब्द गूगोल Edward Kasner और James Newman द्वारा लिखे गए किताब Mathematics and Imagination से लिया गया है।

Googol यानि गूगल का अर्थ है 1 के पीछे 100 बार जीरो इसका मतलब अगर कोई गूगल में कुछ भी सर्च करें तो रैंक के हिसाब से यूज़र्स को 100 रिजल्ट मिले और वह जो जानकारी इंटरनेट में ढूंढ रहा है सबसे पहले पेज में रेंक के हिसाब से मिल जाये।

Googol से Google बना गलती के कारण

और एक बात यह भी की गूगल का नाम mathematical शब्द Googol के स्पेलिंग की गलती के कारण Google लिखा गया और तब से लेकर आज तक सभी गोगोल को Google नाम से जानते है और इस गलती को बाद में सुधारा नहीं गया और आज के समय में सर्च इंजन के मामले में गूगल सबसे आगे है।

गूगल की शुरुआत

गूगल सर्च इंजन को दो पीएचडी के छात्र Sergey Brin और Larry Page द्वारा बनाया गया था जब वे दोनों एक ही कॉलेज Stanford University, California में पढ़ा करते थे सन 1995 में Sergey Brin और Larry Page उसी कॉलेज में आपस में मिले थे।

और उन्होंने पीएचडी के रिसर्च प्रोजेक्ट में एक ऐसा सर्च इंजन बनाने की सोची जो सर्च किये जाने वाले वेबसाइट को आपस में तुलना करके रैंक कर सके कौन सा वेबसाइट ऊपर टॉप में आना चाहिए और कौन सा दूसरे, तीसरे, पांचवे नंबर में।

उस समय पर वेबसाइट रैंकिंग इस आधार पर किया जाता था जो अपने आर्टिकल लेख में सर्च किये जाने वाले शब्द को सबसे ज्यादा बार लिखेगा टॉप पोजीशन में रैंक होगा यह तरीका आज भी काम करता है लेकिन गूगल ने इस रैंकिंग के तरीके में काफी बदलाव किया है जिस कारण आज गूगल सबसे टॉप सर्च इंजन हैं।

और आगे चल कर गूगल ने अपने कई अन्य सर्विस भी लांच किये जैसे गूगल मैप्स, एंड्राइड, यूट्यूब, गूगल ड्राइव क्लाउड सर्विस, गूगल अस्सिस्टेंट, Google Play Store और यहा तक की अब गूगल अपने टेक गैजेट्स मोबाइल, स्मार्ट वाच, गूगल होम, VR हेडसेट भी लॉन्च कर दिया है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल 

गूगल का नाम किसने रखा?

गूगल के फाउंडर Larry Page और Sergey Brian ने गूगल का नाम रखा। 

गूगल के मालिक का नाम क्या है?

गूगल के मालिक का नाम Larry Page और Sergey Brian है। 

गूगल का पूरा नाम क्या है hindi me?

गूगल का पूरा नाम “Global Organization of Orientated Group Language of Earth “ है और हिंदी में फॉर्म ग्लोबल ऑर्गनाइजेशन ऑफ ओरिएंटेड ग्रुप लैंग्वेज ऑफ अर्थ कहते है लेकिन Google का कोई official Full Form नहीं है। 

गूगल कौन से देश का है?

गूगल की खोज अमेरिका देश में हुई थी। 

गूगल के सीईओ कौन है 2022?

वर्त्तमान समय 2022 में गूगल के सीईओ सुन्दर पिचाई है जो की एक भारतीय है। 

यह भी पढ़े 

अंतिम शब्द

उम्मीद करता हू मेरा यह लेख पढ़ कर अब आप जान गए होंगे Google ka naam kisne rakha और गूगल का नाम गूगल ही क्यों पढ़ा, अगर गूगल सर्च इंजन से सम्बंधित आपका कोई सवाल है तो निचे कमेंट करके अपने सवाल पूछ सकते है।

अगर आपके दोस्तों को भी गूगल नाम के पीछे का राज नहीं पता तो उन्हें भी यह लेख साझा करें इसी तरह की जानकारी, मोबाइल ट्रिक्स, ऐप ट्रिक्स जानने के लिए हमारे ब्लॉग infotechindi को फॉलो करें और तकनीकी खबर से हमेशा अपडेट रहने के लिए हमे इंस्टाग्राम, फेसबुक पर भी फॉलो कर सकते है आपका धन्यवाद।

Leave a Comment